धन तेरस पर ब्लोगर की अर्जी

Posted on
  • by
  • ब्लॉ.ललित शर्मा
  • in
  • Labels: , ,
  • जय  कुबेर  महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    आज धन तेरस है तुझे पूजे है दुनिया सारी

    धन के देवता हो कुछ ऐसा कमाल दिखाओ
    सारे  बेईमानों   को आज कंगाल  कर जाओ
    गरीबों को लूटके  भरी जिनकी तिजोरी सारी
     
    जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    आज  धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी

    धन   धनाधन   धन  कुछ  धन इधर  आने दो
    सूखा  खेत  पड़ा   है   कुछ इसे  भी  सरसाने दो
    जनता  मर  रही  देखो  नित  मंहगाई की मारी
     
    जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    आज धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी

    तुम  देवता सबके हो थोड़ा हक हमारा भी बनता
    कुछ स्वर्ण मुद्राएं भेजो हममें भी आये चेतनता
    आज हम नुक्कड़  पर यह निवेदन करते है जारी

    जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
    आज  धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी
     
    धन तेरस की शुभकामनाएं 
     ललित शर्मा 

    11 टिप्‍पणियां:

    1. धन के देवता हो कुछ ऐसा कमाल दिखाओ
      सारे बेईमानों को आज कंगाल कर जाओ
      गरीबों को लूटके भरी जिनकी तिजोरी सारी

      जय कुबेर महाराज तू सुन ले अर्ज हमारी
      आज धन तेरस है तुझे पूजे दुनिया सारी
      bahut khoob aओगर धन कुबेर जी ये बात मान जयें तो सब की समस्या अपने आप हल हो जयेगी। बधाई इस रचना के लिये। दीपावली की शुभकामनायें

      उत्तर देंहटाएं
    2. नुक्कड़ के सभी लेखकों-पाठकों को दीपावली की शुभकामनायें!!

      उत्तर देंहटाएं
    3. बहुत सुंदर आराती लगी, लेकिन यह बेईमान तो पहले से ही कंगाल है, क्योकि इन के पास मान सम्मान, गेरत, जमीर ईमान यह सब तो है ही नही.
      चलिये हम भी आप की आरती मै शामिल होते है.
      धन्यवाद
      आप को ओर आप के परिवार को शुभ दिपावली ओर शुभकामानायें

      उत्तर देंहटाएं
    4. धनकुबेर जी आपकी प्रार्थना अवश्‍य सुनेंगे .. क्‍यूंकि कहा जाता है कि भगवान के घर देर है .. अंधेर नहीं है .. हमलोग इंतजार करेंगे आपकी प्रार्थना के पूरे होने का .. क्‍यूंकि इसमें हम भी आपके साथ शामिल हैं !!

      उत्तर देंहटाएं
    5. ललित भाई! कुबेर तो लक्ष्मी जी के एकाउंटेंट हैं और लक्ष्मी जी को तो उल्लू ही प्रिय है। हम सरस्वतीपुत्रों की अरजी तो पेंडिंग फाइल में ही जाने वाली है। :-)

      सुन्दर रचना!

      उत्तर देंहटाएं
    6. यह अर्जी सभी ब्लॉगर की ओर से लगती है।
      धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएँ।
      ----------
      डिस्कस लगाएं, सुरक्षित कमेंट पाएँ

      उत्तर देंहटाएं
    7. शाम को यही आरती होगी जी।

      धनतेरस, दीपावली और भइया-दूज पर आपको ढेरों शुभकामनाएँ!

      उत्तर देंहटाएं
    8. काश कुबेर जी ऐसा करदें ताकि जल्दी से जल्दी साम्यवाद आ जाये ।

      उत्तर देंहटाएं
    9. अद्भुत परिहास बोध, दिलचस्प, भाषिक बेफिक्री, एक बेहतरीन रचना के लिए बधाई।

      उत्तर देंहटाएं
    10. देखिये ललित जी एतना कुबेर जी का मैसेज आया था अभी अभी...कह रहे थे कि ललित जी से कहो..ई पोस्टवा ठेलने के चक्कर में..एतना अर्जेंट फ़रियाद काहे कर डाले हैं। और बता रहे थे कि बेचारे अभी तक घर की सफ़ेदी के काम से नहीं निबटे हैं। एक ठो लोटा लिये हैं ....गिफ़्ट करने के लिये आपको। जल्दी मिलेगा...तब तक
      आपकी दिवाली विथ धनतेरस ..एक दम डिलीशियस हो।
      अजय कुमार झा

      उत्तर देंहटाएं
    11. अजय भैइया ई लोट्वा ही बड़ काम का चीज है
      हमे इसका ही जरुरत है। गये बरस काशी मे हमरा लोटवा चोरा गइल,तो सोचे होंगे कुबेर जी लैइका परेशान है सो भेज देते हैं, बहुतै कृपालु हैं,दयालु है।
      संदेशा देने के बधाई। आपको दिवाली का सुभकामना

      उत्तर देंहटाएं

    आपके आने के लिए धन्यवाद
    लिखें सदा बेबाकी से है फरियाद

     
    Copyright (c) 2009-2012. नुक्कड़ All Rights Reserved | Managed by: Shah Nawaz